Sunday, November 27, 2022
Home World ताइवान में चीन से निपटने की तैयारी: अमेरिका वेपन्स डिपो बनाने में...

ताइवान में चीन से निपटने की तैयारी: अमेरिका वेपन्स डिपो बनाने में जुटा, मिलिट्री ड्रिल में नजर आई हर खामी दुरुस्त करेगा


वॉशिंगटन29 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

अमेरिका ने अब ताइवान में चीन से निपटने की तैयारी बेहद तेजी से शुरू कर दी है। अमेरिकी रक्षा विभाग यानी पेंटागन के अफसर ताइवान में हथियारों का जखीरा जुटा रहे हैं और इसके लिए बड़े-बड़े डिपो तैयार किए जा रहे हैं। यह जानकारी अमेरिकी अफसरों ने ही दी है।

जुलाई में ताइवान ने मिलिट्री एक्सरसाइज की थी। अमेरिका ने इसे बहुत बारीकी से मॉनिटर किया। इस दौरान उन बातों का खास तौर पर ध्यान रखा गया जो चीन के साथ जंग में भारी पड़ सकती हैं।

सबसे बड़ी कमी क्या थी
अमेरिकी मिलिट्री अफसरों के मुताबिक- अगर चीन किसी वक्त ताइवान पर हमला करता है और उसे घेर लेता है तो इन हालात में ताइवान की फौज के पास हथियार तब तक नहीं पहुंच सकते, जब तक अमेरिका या कोई दूसरा देश रिस्क लेकर इन्हें नहीं पहुंचाता। दूसरे शब्दों में ताइवान चारों तरफ से न सिर्फ घिर जाएगा, बल्कि बाकी दुनिया से भी कट जाएगा।

इसी परेशानी से निपटने के लिए अमेरिका ने ताइवान में हथियारों के डिपो तैयार करने शुरू कर दिए हैं। कुछ तो तैयार हो भी गए हैं। इसके लिए अमेरिकी वेपन प्रोडक्शन कंपनियां बड़े पैमाने पर जरूरी हथियार बना रही हैं।

जुलाई में ताइवान ने मिलिट्री एक्सरसाइज की थी। अमेरिका ने इसे बहुत बारीकी से मॉनिटर किया। उन बातों का खास तौर पर ध्यान रखा गया जो चीन के साथ जंग में भारी पड़ सकती हैं।

जुलाई में ताइवान ने मिलिट्री एक्सरसाइज की थी। अमेरिका ने इसे बहुत बारीकी से मॉनिटर किया। उन बातों का खास तौर पर ध्यान रखा गया जो चीन के साथ जंग में भारी पड़ सकती हैं।

एक बात अब भी राज
पेंटागन के अफसर अब तक यह अनुमान नहीं लगा पाए हैं कि अगर अमेरिका ने ताइवान की इसी तरह मदद जारी रखी तो चीन क्या एक्शन लेगा। प्रेसिडेंट जो बाइडेन ने पिछले महीने कहा था- अगर ताइवान पर हमला हुआ तो अमेरिका उसकी हिफाजत और मदद दोनों करेगा।

बाइडेन की बात का जवाब चीन के फॉरेन मिनिस्टर वांग यी ने दिया था। वांग ने कहा था- अमेरिका हालात को बहुत हल्के में ले रहा है। ताइवान को हर तरह के हथियार दिए जा रहे हैं और चीन की इस पर पैनी नजर है। चीन की नेवी ने अगस्त में ताइवान की समुद्री सीमा के पास एक्सरसाइज की थी। इस दौरान उसने बैलेस्टिक मिसाइल भी टेस्ट किए थे। इनमें से चार तो ताइवान के ऊपर से निकले थे।

ताइवान पहुंचने के लिए एयर या नेवल रूट ही इस्तेमाल करना होगा। यहां यूक्रेन की तरह रोड कनेक्टिविटी नहीं है। अमेरिका इसीलिए अभी से तैयारियां कर रहा है।

ताइवान पहुंचने के लिए एयर या नेवल रूट ही इस्तेमाल करना होगा। यहां यूक्रेन की तरह रोड कनेक्टिविटी नहीं है। अमेरिका इसीलिए अभी से तैयारियां कर रहा है।

यूक्रेन जंग का भी असर
रूस ने जब यूक्रेन पर हमला किया तो इसके बाद चीन के हौसले भी बढ़ गए। उसे लगा कि अगर रूस कभी अपना हिस्सा रहे ताइवान पर हमला कर सकता है तो चीन अब ताइवान के साथ ऐसा क्यों नहीं कर सकता।

चीन के इरादे अमेरिका और ताइवान दोनों भांप गए। उसी वक्त चीन की तमाम धमकियों के बावजूद अमेरिकी पार्लियामेंट की स्पीकर नैंसी पेलोसी को ताइवान दौरे पर भेजा गया। इसके बाद दो और अमेरिकी डेलिगेशन यहां पहुंचे। चीन समझ गया कि अमेरिका और ताइवान अब किसी भी तरह के दबाव में आने वाले नहीं हैं। चंद दिन बाद ताइवान ने साफ कर दिया कि अगर चीन के फाइटर जेट्स उसकी सीमा में आए तो उनके खिलाफ एक्शन होगा।

अमेरिका के कई मीडिया हाउस कह चुके हैं कि ताइवान में सैकड़ों की तादाद में अमेरिकी सैनिक महीनों से मौजूद हैं। हालांकि, बाइडेन एडमिनिस्ट्रेशन ने इसकी पुष्टि नहीं की।

अमेरिका के कई मीडिया हाउस कह चुके हैं कि ताइवान में सैकड़ों की तादाद में अमेरिकी सैनिक महीनों से मौजूद हैं। हालांकि, बाइडेन एडमिनिस्ट्रेशन ने इसकी पुष्टि नहीं की।

दिक्कतें भी कम नहीं

  • यूक्रेन और ताइवान में एक बहुत बड़ा फर्क है और यही फर्क अमेरिका के लिए चैलेंज है। दरअसल, ताइवान पहुंचने के लिए एयर या नेवल रूट ही इस्तेमाल करना होगा। यहां यूक्रेन की तरह रोड कनेक्टिविटी नहीं है। एक अमेरिकी जनरल कहते हैं- पहला चैलेंज ये है कि हम ताइवान को अभी से ही इतने हथियार पहुंचा दें कि वो हमले की सूरत में तब तक लड़ सके, जब तक अमेरिका उस तक मदद नहीं पहुंचा देता। इसमें हम कामयाब हो चुके हैं।
  • यही जनरल आगे कहते हैं- प्रेसिडेंट बाइडेन कह चुके हैं कि अगर ताइवान पर हमला हुआ तो अमेरिकी फौज उसकी हिफाजत करेंगी। कई मीडिया हाउस कह चुके हैं कि ताइवान में सैकड़ों की तादाद में अमेरिकी सैनिक महीनों से मौजूद हैं।
  • अमेरिका और ताइवान के बीच हाल ही में 6 आर्म्स डील हुई हैं। आखिरी डील के तहत अमेरिका बहुत जल्द ताइवान को 1.1 अरब डॉलर की 60 बेहद खतरनाक हारपून मिसाइलें देगा। यह किसी भी वॉरशिप को चंद सेकंड में मलबा बना सकती हैं। चीन की नेवी इस डील के बाद से डिफेंसिव मोड में नजर आ रही है। विदेश मंत्रालय इसके बाद से चुप है। इस वॉर माइंडगेम में फिलहाल अमेरिका एकतरफा जीत दर्ज करता दिख रहा है।

खबरें और भी हैं…



Source link

RELATED ARTICLES

VIDEO: अजय देवगन की बेटी न्यासा देवगन ने देर रात दोस्तों के साथ जमकर की पार्टी, खूब लगाए ठुमके

न्यासा देवगन ने देर रात दोस्तों के साथ जमकर की पार्टीनई दिल्ली : अजय देवगन और काजोल की बेटी न्यासा देवगन और ओरहान...

दरभंगा पहुंचे RSS प्रमुख मोहन भागवत: 28 नवंबर को सुबह 6:30 बजे होगा स्वयंसेवकों का शारीरिक प्रदर्शन

दरभंगा26 मिनट पहलेदरभंगा में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरसंघचालक मोहन भागवत रविवार को दो दिवसीय कार्यक्रम में भाग लेने दरभंगा पहुंचे। चार दिवसीय...

2021-22 में वरिष्ठ नागरिक यात्रियों की संख्या 24 प्रतिशत घटी: रेलवे

2021-22 में लगभग 5.5 करोड़ वरिष्ठ नागरिकों ने रेलगाड़ियों का इस्तेमाल किया. (फाइल फोटो)नई दिल्ली: रेलवे ने 2019-2020 की तुलना में 2021-22 में...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

VIDEO: अजय देवगन की बेटी न्यासा देवगन ने देर रात दोस्तों के साथ जमकर की पार्टी, खूब लगाए ठुमके

न्यासा देवगन ने देर रात दोस्तों के साथ जमकर की पार्टीनई दिल्ली : अजय देवगन और काजोल की बेटी न्यासा देवगन और ओरहान...

दरभंगा पहुंचे RSS प्रमुख मोहन भागवत: 28 नवंबर को सुबह 6:30 बजे होगा स्वयंसेवकों का शारीरिक प्रदर्शन

दरभंगा26 मिनट पहलेदरभंगा में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरसंघचालक मोहन भागवत रविवार को दो दिवसीय कार्यक्रम में भाग लेने दरभंगा पहुंचे। चार दिवसीय...

2021-22 में वरिष्ठ नागरिक यात्रियों की संख्या 24 प्रतिशत घटी: रेलवे

2021-22 में लगभग 5.5 करोड़ वरिष्ठ नागरिकों ने रेलगाड़ियों का इस्तेमाल किया. (फाइल फोटो)नई दिल्ली: रेलवे ने 2019-2020 की तुलना में 2021-22 में...

विश्वमित्र की नगरी में दूल्हा बने श्रीराम: बक्सर वासियों ने किया जगह-जगह स्वागत, श्री राम के जयकारे के साथ झूमते दिखे श्रद्धालु

Hindi NewsLocalBiharBuxarThe Residents Of Buxar Welcomed At Various Places, Devotees Were Seen Swinging With The Praise Of Shri Ram.बक्सर9 मिनट पहलेमहामुनि विश्वामित्र की...

Recent Comments