Sunday, November 27, 2022
Home Delhi NCR फरीदाबाद में 4 सफाई कर्मचारियों की दर्दनाक मौत: निजी अस्पताल के सीवर...

फरीदाबाद में 4 सफाई कर्मचारियों की दर्दनाक मौत: निजी अस्पताल के सीवर टैंक में सफाई करने उतरे थे; दिल्ली के रहने वाले चारों


  • Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Rewari
  • In Haryana’s Faridabad, 4 Sanitation Workers Who Came To Clean The Sewer Tank Of A Private Hospital Died Of Suffocation

फरीदाबाद3 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

फरीदाबाद स्थित शवगृह से शव को लेकर जाते हुए परिजन।

दशहरा के दिन दिल्ली से सटे फरीदाबाद शहर के एक निजी अस्पताल में दर्दनाक हादसा हो गया। बगैर सुरक्षा उपकरण के सीवर टैंक की सफाई करने उतरे 4 युवकों की दर्दनाक मौत हो गई। सूचना पर पहुंची अग्निशमन कर्मचारियों ने स्थानीय पुलिस की मदद से टैंक में बेहोश पड़े चारों युवकों को कड़ी मशक्कत के बाद बाहर निकाला और अस्पताल में भर्ती कराया। जांच के दौरान डॉक्टरों ने चारों को मृत घोषित कर दिया। मरने वाले युवकों की उम्र करीब 25 से 30 वर्ष बताई जा रही है।

पुलिस के मुताबिक मृतकों की पहचान दक्षिणपुरी दिल्ली, संगम विहार, संजय कैंप निवासी रोहित व रवि पुत्र धर्मेंद्र, विशाल पुत्र रमेश तथा रवि पुत्र राजू के रूप में हुई है। घटना के बारे में पुलिस ने परिजनों को सूचना दे दी है। परिजन फरीदाबाद आ रहे हैं। पुलिस घटना की जांच में जुटी है। हैरानी की बात ये है कि सफाई का ठेका लेने वाली प्राइवेट एजेंसी और अस्पताल प्रबंधन एक दूसरे की लापरवाही बताकर पल्ला झाड़ रहे हैं।

दिल्ली की एजेंसी ने पांच साल से ले रखा है ठेका

सेक्टर-16 स्थित क्यूआरजी अस्पताल में सफाई का ठेका मदनगिरी दिल्ली स्थित संतुष्टि एलाइड सर्विसेज नामक एजेंसी ने ठेका ले रखा है। यह कंपनी दिल्ली एनसीआर के अस्पतालों में सफाई का ठेका लेती है। क्यूआरजी अस्पताल की सफाई का ठेका चार पांच साल से इसी कंपनी के पास है। कंपनी के सुपरवाइजर सतीश कुमार का कहना है कि अस्पताल के कर्मचारी शाहिद नामक व्यक्ति ने फोन कर उनके चार सफाईकर्मियों को बुलाया था। सुपरवाइजर का कहना है कि उनकी कंपनी का काम सिर्फ बिल्डिंग की साफ सफाई का है। यदि टैंक की सफाई करनी होती है तो उसके लिए टेक्निकल कर्मचारियों को लगाया जाता है। इसके लिए कर्मियों को सुरक्षा उपकरण दिए जाते हैं। उनका आरोप है कि अस्पताल प्रबंधन ने अपनी इच्छानुसार चारों कर्मचारियों को रैन वाटर चैंबर की सफाई करने के लिए उतारा था।

दो दो करके चैंबर में उतरते गए, बेहोश होते रहे

पुलिस अधिकारियों ने बताया कि बुधवार को दिल्ली से चारों युवक अस्पताल में सफाई करने आए थे। सबसे पहले रवि और रोहित दोनों सगे भाई सफाई करने के लिए टैंक में उतरे थे। उन्हें बचाने के लिए विशाल और रवि गोलदार उतरे। चारों उसी में बेहोश हो गए। मौके पर मौजूद अस्पताल कर्मचारी नरेंद्र सिंह और शाहिद ने शोर मचाते हुए चैंबर में फंसे कर्मचारियों को बचाने के लिए प्रयास किया तो ये दोनों भी गैस की चपेट में आ गए। अन्य अस्पतालकर्मियों ने पुलिस और अग्निशमन विभाग को सूचना दी।

अग्निशमन विभाग ने निकाला चारों का शव

पुलिस प्रवक्ता सूबे सिंह ने बताया कि बुधवार दोपहर करीब साढ़े 12 बजे पुलिस को सूचना मिली थी। सूचना पर एसीपी महेंद्र वर्मा, सेक्टर 17 थाना एसएचओ धनप्रकाश तथा चौकी प्रभारी उमेद सिंह अपनी टीम के साथ मौके पर पहुंचे। अग्निशमन विभाग को बुलाकर चैंबर में फंसे युवकों को घंटे भर की मशक्कत के बाद बाहर निकाला। शवाों को बीके अस्पताल की मोर्चरी में रखवाया गया है। उन्होंने कहा कि मृतकों के परिजनों को सूचित किया जा चुका है। परिजनों की शिकायत के अनुसार आगे की कार्रवाई की जाएगी। लापरवाही के जिम्मेवार व्यक्तियों के खिलाफ सख्त कानूनी कार्रवाई होगी।

अस्पताल प्रबंधन बोला, घटना के लिए ठेकेदार जिम्मेदार

क्यूआरजी अस्पताल के मुख्य चिकित्सा अधीक्षक डॉ महेंद्र पंवार का कहना है कि अस्पताल की सीवर लाइन की सफाई का टेंडर ठेकेदार के पास था। उसे पता था कि सीवर लाइन में गैस का प्रवाह रहता है, इसके बावजूद उसने कर्मचारियों को बिना सुरक्षा उपकरण पहनाए चैंबर में उतारा जिससे चारों युवकों की मौत हुई है। उन्होंने बताया कि इस घटना में उनके दो कर्मचारी नरेंद्र सिंह और शाहिद भी लपेटे में आए हैं। उन्हें आईसीयू में भर्ती कराया गया है। दोनों मेंटिनेंस विभाग के कर्मचारी मौके पर थे। उन्होंने बताया कि हर वर्ष सीवर का वार्षिक ठेका दिया जाता है। ठेकेदार को ब्लैक लिस्टेड करने के लिए भी उन्होंने कार्रवाई की है। अस्पताल की ओर से ठेकेदार के खिलाफ मामला दर्ज कराया जाएगा।

खबरें और भी हैं…



Source link

RELATED ARTICLES

भारत-नेपाल सीमा पर अवैध रूप से देश में घुसने के आरोप में दो विदेशी नागरिक को पकड़ा

दोनों विदेशियों को खारीबाड़ी थाने के अधिकारियों के हवाले कर दिया गया. (प्रतीकात्‍मक)सिलीगुड़ी (प.बंगाल): पश्चिम बंगाल के दार्जिलिंग जिले में भारत-नेपाल सीमा पर अवैध...

कश्मीरी युवक बंदूकें छोड़कर लोकतांत्रिक मार्ग अपनाएं: PDP नेता वहीद पारा

पार्टी की युवा इकाई के सम्मेलन को संबोधित करते हुए पारा ने कहा कि पांच अगस्त 2019 के बाद एक चीज नहीं बदली...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

भारत-नेपाल सीमा पर अवैध रूप से देश में घुसने के आरोप में दो विदेशी नागरिक को पकड़ा

दोनों विदेशियों को खारीबाड़ी थाने के अधिकारियों के हवाले कर दिया गया. (प्रतीकात्‍मक)सिलीगुड़ी (प.बंगाल): पश्चिम बंगाल के दार्जिलिंग जिले में भारत-नेपाल सीमा पर अवैध...

कश्मीरी युवक बंदूकें छोड़कर लोकतांत्रिक मार्ग अपनाएं: PDP नेता वहीद पारा

पार्टी की युवा इकाई के सम्मेलन को संबोधित करते हुए पारा ने कहा कि पांच अगस्त 2019 के बाद एक चीज नहीं बदली...

Recent Comments