Home Business बड़ा बदलाव: 1 जुलाई से लागू हो सकते हैं चारों लेबर कोड,...

बड़ा बदलाव: 1 जुलाई से लागू हो सकते हैं चारों लेबर कोड, इससे सप्ताह में 4 दिन काम के बाद मिलेगी 3 दिन की छुट्टी


  • Hindi News
  • Business
  • Labour Codes India Implementation; What It Means For Employers And Employees

नई दिल्लीकुछ ही क्षण पहले

  • कॉपी लिंक

केंद्र सरकार 1 जुलाई से नए लेबर कोड लागू हो सकते हैं। यदि ऐसा होता है कर्मचारियों को रोजाना 12 घंटे तक काम करना पड़ सकता है। हालांकि, कर्मचारियों को सप्ताह में 48 घंटे ही काम करना होगा यानी उन्हें सप्ताह में केवल चार दिन काम करना होगा। 44 सेंट्रल लेबर एक्ट को मिलाकर ये 4 नए लेबर कोड तैयार किए गए हैं। कई कंपनियां इसकी तैयारी कर रही हैं। यहां जानिए कि इनके लागू होने का आप पर क्या असर होगा?

सोशल सिक्योरिटी कोड
इस कोड के तहत ESIC और EPDO की सुविधाओं को बढ़ाया गया है। इस कोड के लागू होने के बाद असंगठित क्षेत्र में काम करने वाले वर्कर्स, गिग्स वर्कर्स, प्लेटफॉर्म वर्कर्स को भी ईएसआईसी की सुविधा मिलेगी। इसके अलावा किसी भी कर्मचारी को ग्रेच्युटी पाने के लिए पांच साल का इंतजार नहीं करना होगा।

इसके अलावा बेसिक सैलरी कुल वेतन का 50% या अधिक होना चाहिए। इससे ज्यादातर कर्मचारियों की वेतन का स्ट्रक्चर बदल जाएगा, बेसिक सैलरी बढ़ने से पीएफ और ग्रेच्युटी का पैसा ज्यादा पहले से ज्यादा कटेगा। पीएफ बेसिक सैलरी पर आधारित होता है। पीएफ बढ़ने पर टेक-होम या हाथ में आने वाला सैलरी कम हो जाएगी।

ऑक्यूपेशनल सेफ्टी, हेल्थ ऐंड वर्किंग कंडीशन कोड
इस कोड में लीव पॉलिसी और सेफ एनवायरमेंट तैयार करने की कोशिश की गई है। इस कोड के लागू होने के बाद 240 के बजाए 180 दिन काम के बाद ही लेबर छुट्टी पाने की हकदार बन जाएगी। इसके अलावा किसी कर्मचारी को कार्यस्थल पर चोट लगने पर कम से कम 50% मुआवजा मिलेगा। इसमें 1 सप्ताह में अधिकतम 48 घंटे काम का भी प्रावधान शामिल है। यानी 12 घंटे की शिफ्ट वालों को सप्ताह में 4 दिन काम करने की छूट होगी। इसी तरह 10 घंटे की शिफ्ट वालों को 5 दिन और 8 घंटे की शिफ्ट वालों को सप्ताह में 6 दिन काम करना होगा।

इंडस्ट्रियल रिलेशंस कोड
इस कोड में कंपनियों को काफी छूट दी गई है। नया कोड लागू होने के बाद 300 से कम कर्मचारियों वाली कंपनियां सरकार की मंजूरी के बिना छंटनी कर सकेंगी। 2019 में इस कोड में कर्मचारियों की सीमा 100 रखी गई थी, जिसे 2020 में इसे बढ़ाकर 300 किया गया है।

वेज कोड
इस कोड में पूरे देश के मजदूरों को न्यूनतम मजदूरी देने का प्रावधान किया गया है। इसके तहत सरकार पूरे देश के लिए कम से कम मजदूरी तय करेगी। सरकार का अनुमान है कि इस कोड के लागू होने के बाद देश के 50 करोड़ कामगारों को समय पर और निश्चित मजदूरी मिलेगी। इसको 2019 में ही पास कर दिया गया था।

खबरें और भी हैं…



Source link

RELATED ARTICLES

डॉलर के मुकाबले रुपया 12 पैसे मजबूत

शेयर बाजार के आंकड़ों के अनुसार विदेशी संस्थागत निवेशक पूंजी बाजार से निकासी जारी रखे हैं.मुंबई: रुपये में पिछले पांच कारोबारी सत्रों से...

प्रियांशु के लिए फरिश्ता बने एक्टर सोनू सूद: 11 साल की बच्ची को इलाज के लिए मुंबई बुलाया, एक पैर से विद्यालय जाने को...

सीवान13 मिनट पहलेअपने परिवार के साथ बच्ची।एक्टर सोनू सूद एक बार फिर फरिश्ता बनकर सामने आए है। सीवान में एक पैर से 2...

हॉन्गकॉन्ग पहुंचे चीनी राष्ट्रपति: कोरोना ने बाद पहला दौरा; जिनपिंग ने कहा- सत्ता देशभक्तों के हाथ में होना चाहिए, गद्दारों के पास नहीं

Hindi NewsInternationalFirst Tour After Corona; Jinping Said Power Should Be In The Hands Of Patriots, Not With Traitorsबीजिंग3 मिनट पहलेकॉपी लिंकहॉन्गकॉन्ग पर चीनी...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

डॉलर के मुकाबले रुपया 12 पैसे मजबूत

शेयर बाजार के आंकड़ों के अनुसार विदेशी संस्थागत निवेशक पूंजी बाजार से निकासी जारी रखे हैं.मुंबई: रुपये में पिछले पांच कारोबारी सत्रों से...

प्रियांशु के लिए फरिश्ता बने एक्टर सोनू सूद: 11 साल की बच्ची को इलाज के लिए मुंबई बुलाया, एक पैर से विद्यालय जाने को...

सीवान13 मिनट पहलेअपने परिवार के साथ बच्ची।एक्टर सोनू सूद एक बार फिर फरिश्ता बनकर सामने आए है। सीवान में एक पैर से 2...

हॉन्गकॉन्ग पहुंचे चीनी राष्ट्रपति: कोरोना ने बाद पहला दौरा; जिनपिंग ने कहा- सत्ता देशभक्तों के हाथ में होना चाहिए, गद्दारों के पास नहीं

Hindi NewsInternationalFirst Tour After Corona; Jinping Said Power Should Be In The Hands Of Patriots, Not With Traitorsबीजिंग3 मिनट पहलेकॉपी लिंकहॉन्गकॉन्ग पर चीनी...

उदयपुर हत्याकांड को लेकर गुरुग्राम में हुई रैली में लगे नफरती नारे, पुलिस ने दर्ज किया मामला

नई दिल्‍ली : उदयपुर हत्‍याकांड को लेकर गुरुग्राम में बुधवार को एक समुदाय विशेष के खिलाफ भड़काऊ नारे लगाए जाने के मामले में...

Recent Comments