Home Women & Happy Life भांग- कब दवा, कब नशा: चरम सुख पाने से लेकर, कुष्ठ रोग,...

भांग- कब दवा, कब नशा: चरम सुख पाने से लेकर, कुष्ठ रोग, एक्जिमा, पीरियड्स के दर्द में कब कितना लें, आयुर्वेदाचार्य से जानें


22 मिनट पहलेलेखक: भाग्य श्री सिंह

  • कॉपी लिंक

गुजरात के गांधीनगर में आतंक निरोधी दस्ते (ATS) ने बीते रविवार दो लोगों को भांग से बने बिस्किट बेचने के मामले में रेस्तरां से गिरफ्तार किया। थाईलैंड सरकार के मारिजुआना से बैन हटाने के बाद कई संगठन इसके रिक्रिएशनल यूज पर लगा बैन हटाने की मांग कर रहे हैं। भांग कई देशों में नारकोटिक्स की सूची में है। इसे कैनाबिस और मारिजुआना भी कहते हैं। कैनाबिस का इस्तेमाल कई हेल्थ प्रोडक्ट्स, ब्यूटी प्रोडक्ट्स और रेसिपी में किया जाता है। भांग महिलाओं के लिए कैसे और कितनी मात्रा में फायदेमंद है जानें एकॉर्ड सुपरस्पेसलिटी हॉस्पिटल की आयुर्वेद कंसल्टेंट डॉ. अनु शर्मा से।

वेद में भांग पवित्र पौधा

अथर्ववेद में भांग का जिक्र पवित्र पौधे के रूप में किया गया है। वहीं आयुर्वेद में इसके औषधीय महत्व का उल्लेख किया है।

मेंस्ट्रुअल क्रैम्प में राहत

पीरियड्स के दौरान होने वाले दर्द को दूर करने में भांग काफी कारगर है। आयुर्वेद में मेंस्ट्रुअल क्रैम्प के लिए भांग से बनी वटी दी जाती है जो महिलाओं को तकलीफ से निजात दिलाती है।

त्वचा से जुड़े रोगों में फायदेमंद

त्वचा से संबंधित बीमारियों जैसे एक्जिमा और कुष्ठ रोग में भांग पीस कर इसका लेप लगाने से फायदा मिलता है। डॉक्टर स्किन डिसीज में कैनाबिस से बनी क्रीम लगाने की भी सलाह देते हैं।

शारीरिक संबंधों में चरम सुख और संतुष्टि के लिए भांग का प्रयोग किया जाता है।

शारीरिक संबंधों में चरम सुख और संतुष्टि के लिए भांग का प्रयोग किया जाता है।

पंचकर्म चिकित्सा में होती है इस्तेमाल

कमर दर्द, बदन दर्द से राहत के लिए पंचकर्म चिकित्सा में दर्द दूर करने के लिए इसकी पोटली बनाई जाती है। तेल में भांग, आक और धतूरे की पत्तियां पकाकर इसे ठंडा किया जाता है। इसे एक पोटली में भरकर जिस जगह दर्द हो रहा है वहां सिंकाई की जाती है।

परफॉर्मेंस प्रेशर कम करता है

शारीरिक संबंधों में चरम सुख और संतुष्टि के लिए भांग का प्रयोग किया जाता है। भांग में मौजूद CBD और टेट्राहाइड्रोकैनाबिनोल (THC) केमिकल शरीर में डोपामाइन हार्मोन को बढ़ाता है। डोपामाइन हार्मोन ही साथी से करीबी के दौरान प्लेजर फील कराता है इसलिए भांग खाने से परफॉरमेंस प्रेशर कम होता है और ऑर्गेज्म की प्राप्ति होती है।

कितनी मात्रा में लें भांग?

आयुर्वेद में रोगों के इलाज के लिए 125 मिलीग्राम से लेकर 250 मिलीग्राम की मात्रा सही बताई गई है। इससे ज्यादा मात्रा में मारिजुआना सेहत के लिए हानिकारक है और नशे की प्रवृत्ति को बढ़ावा देगी।

खाने का बढ़ाती है जायका

कई जगहों पर भांग फूड आइटम्स में इस्तेमाल की जाती है। भांग के पकौड़े, भांग वाली ठंडाई, शिमला की भांग और मुरमुरे से बनी नमकीन और उत्तराखंड की बनी भांग की चटनी फेमस है।

उत्तराखंड में भांग के बीज की चटनी फेमस है।

उत्तराखंड में भांग के बीज की चटनी फेमस है।

सीखें भांग की चटनी की रेसिपी।

सामग्री

भांग के बीज- 50 ग्राम, हरी मिर्च-2, 2 नींबू का रस, बारीक कटा पुदीना- 2 टेबल स्पून, पानी जरूरत के हिसाब से, नमक स्वादानुसार।

विधि

हल्की आंच पर भांग के बीज भूनें। इसे पीस लें। फिर इसमें हरी मिर्च, नींबू का रस, पुदीना, पानी और नमक डालकर दोबारा बारीक पीसें। इस चटनी को भांग के पकौड़ों या पूड़ी-पराठे के साथ खा सकती हैं।

भांग के ब्यूटी प्रोडक्ट्स

भांग में मौजूद CBD ऑयल स्किन की सूजन कम करता है और सर में ठंडक पहुंचता है। यही वजह है कई इंटरनेशनल ब्रांड इसका इस्तेमाल ब्यूटी प्रोडक्ट्स में करते हैं। भांग का इस्तेमाल मॉइस्चराइजर, फुट क्रीम, दाढ़ी बढ़ाने वाले तेल, एंटी ब्लेमिश फेशियल सीरम, क्लीनसिंग मास्क, ड्राईनेस क्रीम, ग्लास ग्लो स्किन हाईलाइटर, आई क्रीम, नाइट मास्क, डियोड्रेंट, माउथ वाश, बॉडी बटर, कलर करेक्टर, लिप ग्लॉस, फेस सीरम, लिप ऑयल, मस्कारा, हेयर ऑयल, टिश्यू रिपेयर सीरम के तौर पर किया जाता है।

भांग में मौजूद CBD ऑयल ब्यूटी प्रोडक्ट्स में इस्तेमाल होता है।

भांग में मौजूद CBD ऑयल ब्यूटी प्रोडक्ट्स में इस्तेमाल होता है।

कैनुका एलएलसी, एंडोका एलएल, लीफ ऑर्गेनिक्स, एलिक्सिनॉल ग्लोबल लिमिटेड, कापू माकू एलएलसी, किहल की एलएलसी, वर्टीबलम, लॉर्ड जोन्स और मेडिकल मारिजुआना इंक जैसे इंटरनेशनल ब्रांड भांग का इस्तेमाल अपने प्रोडक्ट्स में कर रहे हैं।

2025 तक भांग का बाजार बढ़ने का आसार

मार्केट के अनुमान के अनुसार, साल 2025 तक सीबीडी स्किन केयर प्रोडक्ट का बाजार 1.7 बिलियन अमरीकी डालर ( 1,33,20,56,25,000 रुपये) के मूल्य तक पहुंचने की उम्मीद है।

भांग पिछले दो हफ्तों से सुर्खियों में है। थाईलैंड सरकार ने 8 जून 2022, को भांग की खेती को कानूनी मान्यता दे दी लेकिन रिक्रिएशनल यूज पर बैन है। सरकार ने कई शर्तों और प्रतिबंधों के तहत भांग को नारकोटिक्स की सूची से हटा दिया है। रिक्रिएशनल यूज का मतलब है कि मेरीजुआना का इस्तेमाल मेडिकल कंडीशन के अलावा नशे के लिए किया जा सके।

इन देशों में नहीं है भांग पर बैन

कनाडा-अक्टूबर 2018 में, कनाडा ने कैनबिस अधिनियम के तहत भांग के औषधीय इस्तेमाल को मंजूरी देकर वैध कर दिया। कनाडा में रहने वाला कोई भी व्यक्ति जिसकी आयु 18 वर्ष से ज्यादा है, वह 30 ग्राम तक भांग रख सकता है।

उरुग्वे– उरुग्वे पहला देश है जिसने 2013 में रिक्रिएशनल यूज के लिए भांग को कानूनी मान्यता दी। मारिजुआना खरीदने के लिए खरीदारों को पंजीकरण करना पड़ता है। लाइसेंस प्राप्त फार्मेसी से 10 ग्राम तक मारिजुआना खरीदा जा सकता है।

अमेरिका– अमेरिका के कई राज्यों जैसे इलिनोइस, वाशिंगटन राज्य, ओरेगन, कोलोराडो, मिशिगन, नेवादा, कैलिफोर्निया, वरमोंट, मेन, मैसाचुसेट्स और अलास्का सहित राज्यों ने मारिजुआना के रिक्रिएशनल यूज को वैध कर दिया गया है।

नीदरलैंड्स– इस देश में कैनबिस लाइसेंस प्राप्त कॉफी शॉप में बेचा जा सकता है। लोग यहां से इसे खुलेआम खरीद सकते हैं।

दवाई के रूप में भांग– अर्जेंटीना, ऑस्ट्रेलिया, बारबाडोस, बरमूडा, ब्राजील, चिली, कोलंबिया, क्रोएशिया, साइप्रस, चेक गणराज्य, डेनमार्क, इक्वाडोर और फिनलैंड सहित देशों ने मारिजुआना के औषधीय इस्तेमाल को वैध कर दिया है।

खबरें और भी हैं…



Source link

RELATED ARTICLES

बिक्रमगंज में ऑटो को ट्रक ने मारी टक्कर: ऑटो सवार आधा दर्जन लोग घायल, हालत गंभीर, सभी भोजपुर के निवासी

सासाराम (रोहतास)17 मिनट पहलेकॉपी लिंकरोहतास जिले के बिक्रमगंज थाना क्षेत्र में शुक्रवार की रात पौने दस बजे सड़क दुर्घटना में आधा दर्जन लोग...

शताब्दी ट्रेन में यात्री ने 20 रुपये की चाय पर 50 रुपये का चुकाया सर्विस चार्ज, Viral हुआ ‘चाय का बिल’

शताब्दी ट्रेन में यात्री ने 20 रुपये की चाय पर 50 रुपये का चुकाया सर्विस चार्जनई दिल्ली: हवाई जहाज से यात्रा के दौरान...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

बिक्रमगंज में ऑटो को ट्रक ने मारी टक्कर: ऑटो सवार आधा दर्जन लोग घायल, हालत गंभीर, सभी भोजपुर के निवासी

सासाराम (रोहतास)17 मिनट पहलेकॉपी लिंकरोहतास जिले के बिक्रमगंज थाना क्षेत्र में शुक्रवार की रात पौने दस बजे सड़क दुर्घटना में आधा दर्जन लोग...

शताब्दी ट्रेन में यात्री ने 20 रुपये की चाय पर 50 रुपये का चुकाया सर्विस चार्ज, Viral हुआ ‘चाय का बिल’

शताब्दी ट्रेन में यात्री ने 20 रुपये की चाय पर 50 रुपये का चुकाया सर्विस चार्जनई दिल्ली: हवाई जहाज से यात्रा के दौरान...

Recent Comments