Home World रूस-यूक्रेन जंग: यूक्रेन का साथ देने वाल देशों की हैकिंग कर रहा...

रूस-यूक्रेन जंग: यूक्रेन का साथ देने वाल देशों की हैकिंग कर रहा रूस, रिपोर्ट से पता चला- जर्नलिस्ट माक्स की हत्या साजिश थी


  • Hindi News
  • International
  • Russia Ukraine War Situation Updates, Ukrainian Journalist Maks Levin ‘executed In Cold Blood,’ Reporters Without Borders Report Says

कीव8 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

Microsoft ने बुधवार को एक रिपोर्ट में दावा किया है कि यूक्रेन के साथ जंग शुरू होने के बाद से रूस ने यूक्रेन और उसका साथ देने वाले देशों के खिलाफ हैकिंग की कोशिश तेज कर दी है। रूस, अमेरिकी और उसके सरकारी कंप्यूटर नेटवर्क को भी निशाना बना रहा है। Microsoft के अनुसार, रूस ने कथित हैकिंग से 42 देशों की खूफिया जानकारी जुटाई है। रिपोर्ट में कहा गया है कि रूस हैकिंग के प्रयासों में 29% बार सफल रहा और इन प्रयासों में उसे 7.25% बार डाटा चोरी करने में सफलता मिली हैं। रूसी सेना ने लुहान्स्क और डोनेट्स्क इलाकों में लगातार बमबारी कर रहा है। रूस ने ड्रुज़्किवका शहर में भी एक मिसाइल हमला किया। इसमें 2 यूक्रेनी सैनिक घायल हो गए। यूक्रेन के रक्षा मंत्रालय ने कहा कि दुश्मन कई दिशाओं से आगे बढ़ रहा है।

फोटो जर्नलिस्ट माक्स लेविन की हत्या साजिश: रिपोर्ट
रूस और यूक्रेन की बीच जंग करीब 4 महीनों से जारी है। इसी बीच रिपोर्टर्स विदाउट बॉर्डर्स (Reporters Without Borders) की एक रिपोर्ट में कहा गया है कि रूसी सैनिकों ने साजिश के तहत यूक्रेनी फोटो जर्नलिस्ट माक्स लेविन और उसके दोस्त ओलेक्सी चेर्निशोव की हत्या की थी। रिपोर्ट में दावा किया गया कि 13 मार्च को यूक्रेन की राजधानी कीव के पास एक जंगल में जर्नलिस्ट की हत्या की गई थी। पहले रूसी सैनिकों ने माक्स और उसके दोस्त से पूछताछ की। बाद में उन्हें यातनाएं दी गईं फिर उनकी हत्या कर दी।

माक्स ने तस्वीरों से युद्ध की तबाही को दिखाया
फोटो जर्नलिस्ट की मौत के मामले की जांच करने के लिए 24 मई और 3 जून के बीच दो इनवेस्टिगेटर यूक्रेन गए थे। उन्होंने मौके पर सबूत जुटाए। मौके पर माक्स, उसके दोस्त के आई कार्ड और कई गोलियां पड़ी मिलीं। आरएसएफ ने कुछ रूसी सैनिकों को पहचान भी की है, उन्होंने बताया कि ये माक्स और ओलेक्सी को अपने साथ ले गए थे।

इनवेस्टिगेटर ने दावा किया है कि माक्स और उसके दोस्त की हत्या सोची समझी साजिश थी। फोटो जर्नलिस्ट माक्स लेविन शुरूआत से रूस-यूक्रेन जंग को कवर कर रहे थे, जंग की दौरान उन्होंने कई शहरों से युद्ध की तबाही की तस्वीरें क्लिक की थीं।

13 मार्च के बाद से माक्स लापता हो गए थे, अंतिम बार उन्हें कीव क्षेत्र के विशगोरोड जिले के हुता-मेझीहिरस्का गांव के जाते हुए देखा गया था। 1 अप्रैल को माक्स का शव बरामद हुआ था। मौत के बाद उन्हें ऑर्डर फॉर करेज (तृतीय श्रेणी) से सम्मानित किया गया था।

खबरें और भी हैं…



Source link

RELATED ARTICLES

विश्व बैंक ने भारत को स्वास्थ्य, निजी निवेश के लिए 1.75 अरब डॉलर का सहयोग दिया

इस धनराशि का उपयोग देश भर में सार्वजनिक स्वास्थ्य सेवा के बुनियादी ढांचे में सुधार के लिए किया जाएगा.नई दिल्ली: विश्व बैंक (...

बिक्रमगंज में ऑटो को ट्रक ने मारी टक्कर: ऑटो सवार आधा दर्जन लोग घायल, हालत गंभीर, सभी भोजपुर के निवासी

सासाराम (रोहतास)17 मिनट पहलेकॉपी लिंकरोहतास जिले के बिक्रमगंज थाना क्षेत्र में शुक्रवार की रात पौने दस बजे सड़क दुर्घटना में आधा दर्जन लोग...

शताब्दी ट्रेन में यात्री ने 20 रुपये की चाय पर 50 रुपये का चुकाया सर्विस चार्ज, Viral हुआ ‘चाय का बिल’

शताब्दी ट्रेन में यात्री ने 20 रुपये की चाय पर 50 रुपये का चुकाया सर्विस चार्जनई दिल्ली: हवाई जहाज से यात्रा के दौरान...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

विश्व बैंक ने भारत को स्वास्थ्य, निजी निवेश के लिए 1.75 अरब डॉलर का सहयोग दिया

इस धनराशि का उपयोग देश भर में सार्वजनिक स्वास्थ्य सेवा के बुनियादी ढांचे में सुधार के लिए किया जाएगा.नई दिल्ली: विश्व बैंक (...

बिक्रमगंज में ऑटो को ट्रक ने मारी टक्कर: ऑटो सवार आधा दर्जन लोग घायल, हालत गंभीर, सभी भोजपुर के निवासी

सासाराम (रोहतास)17 मिनट पहलेकॉपी लिंकरोहतास जिले के बिक्रमगंज थाना क्षेत्र में शुक्रवार की रात पौने दस बजे सड़क दुर्घटना में आधा दर्जन लोग...

शताब्दी ट्रेन में यात्री ने 20 रुपये की चाय पर 50 रुपये का चुकाया सर्विस चार्ज, Viral हुआ ‘चाय का बिल’

शताब्दी ट्रेन में यात्री ने 20 रुपये की चाय पर 50 रुपये का चुकाया सर्विस चार्जनई दिल्ली: हवाई जहाज से यात्रा के दौरान...

Recent Comments